“आईना आज फिर रिशवत लेता पकडा गया,

दिल में दर्द था ओर चेहरा हंसता हुआ पकडा गया”