चलो फिर से आज वो नजारा याद कर लें,

शहीदों के DIL में थी वो ज्वाला याद करले,

जिसमे बहकर आज़ादी पहुची थी किनारे पे,

देशभक्तों के KHOON की वो धरा याद कर लें.

bharat mata ki jai