एक ख़्वाब ने आँखें खोली है

क्या मोड़ आया है कहानी में

वो भींग रही है बारिश में

और आग लगी है पानी में