इस संक्रांति में हमें,

काम, क्रोध, लोभ, मोह एवं अहंकार जैसे

पतंगों को भी काटने चाहिए…