हारना तब जरूरी हो जाता है, जब लड़ाई अपनों से हो,

और जितना तब जरूरी हो जाता है, जब लड़ाई अपने आप से हो