जिसकी मस्ती ज़िंदा है उसकी हस्ती ज़िंदा है

वरना यूँ समझ लो कि वह ज़बरदस्ती ज़िंदा है..