किस कोने में सुखाउ तेरी यादें,

बारिश बाहर भी है,

और

भीतर भी..💫