किताबें ही ईमानदार हैं इस दुनिया में, अपनी जुबान कभी नहीं बदलती।