तसल्ली से पढा होता तो, समझ मे आ जाते हम

कुछ पन्ने, बिना पढे ही पलट दिये होंगे तुमने।